Tez Khabar. Khas Khabar

News Aaj Photo Gallery
NSE 10321.75
BSE 33314.56
hii
Gold 29471
Silver 39520
Home | देश

दिल्ली पॉल्यूशन: पंजाब के CM अमरिंदर ने केजरीवाल से मिलने से किया इनकार

 चंडीगढ़ : पराली से होने वाले पॉल्यूशन को लेकर दिल्ली के चीफ मिनिस्टर अरविंद केजरीवाल से मिलने से कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक बार फिर इनकार कर दिया है। पंजाब के सीएम अमरिंदर ने कहा कि इस गंभीर मुद्दे पर राजनीति नहीं करनी चाहिए। वहीं, आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने कहा, "पराली का प्रदूषण इस समय नेशनल डिजास्टर के तौर पर सामने है। इसके लिए एक चीफ मिनिस्टर के पास दूसरे सीएम से मिलने के लिए वक्त नहीं है।" बता दें कि स्मॉग के चलते दिल्ली में एयर क्वालिटी बदतर हालात में पहुंच गई थी। दिल्ली में पीएम 2.5 के बढ़ने में पराली 26% तक जिम्मेदार है। - केजरीवाल ने मंगलवार को एक ट्वीट करके पराली से पॉल्यूशन को लेकर पंजाब और हरियाणा के चीफ मिनिस्टर्स से मिलने की इच्छा जताई। - अमरिंदर सिंह ने जवाब में कहा, "मुझे यह बात समझ में नहीं आती कि इस मीटिंग से कुछ निकलने वाला, ये बात अच्छी तरह से जानते हुए भी दिल्ली के सीएम बार-बार क्यों मीटिंग की बात कर रहे हैं।" केजरी की सस्ती पॉलिटिक्स से हर कोई वाकिफ- पंजाब CM - अमरिंदर ने कहा, "केजरीवाल की गली-मोहल्ले की सस्ती राजनीति से हर कोई वाकिफ है और AAP के नेताओं द्वारा इस मुद्दे से दिल्ली सरकार की पॉल्यूशन से निपटने की नाकामी का ठीकरा दूसरों के सिर फोड़ने की पॉलिटिक्स भी हर कोई जानता है। इसीलिए एनजीटी ने भी दिल्ली में ऑड ईवन गाड़ियां चलाने की इजाजत नहीं दी। केजरीवाल समस्या को दूसरों पर डालने की कोशिश न करें। दिल्ली में पॉल्यूशन ट्रांसपोर्टेशन के मिस मैनेजमेंट और गलत तरह से किए गए इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट के कारण है। इन मुद्दों पर ध्यान देने की बजाए केजरी अपना समय यूजलेस डिस्कशन में बर्बाद करना चाहते हैं। पर मेरे पास बर्बाद करने के लिए समय नहीं है।" पहले भी कहा था- केजरी ने कुछ नहीं किया - गुरुवार को अमरिंदर ने कहा था, "पॉल्यूशन को रोकने के लिए केजरीवाल ने कुछ भी नहीं किया। यह बहुत बड़ा मुद्दा है। पॉल्यूशन बढ़ाने के लिए सभी राज्य जिम्मेदार हैं। अरविंद केजरीवाल बहुत ही अजीब शख्स हैं। वह स्थिति को समझे बिना ही उस पर राय दे देते हैं।" हरियाणा के CM खट्टर ने लेटर लिखकर दिया था जवाब 1) मैं दिल्ली में हूं, केजरी जब चाहें मिल लें - सोमवार को दिल्ली के एयर पॉल्यूशन को लेकर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने अरविंद केजरीवाल को जवाबी लेटर भेजा। इसमें लिखा है कि वो 13 से 14 नवंबर तक दिल्ली में हैं। इसके बाद चंडीगढ़ में रहेंगे। केजरीवाल जब चाहें, अपनी सहूलियत के हिसाब से इस मुद्दे पर बात कर सकते हैं।" 2) दिल्ली के सुस्त रवैये ने दिक्कत ज्यादा बढ़ाई - खट्टर ने लिखा, "स्मॉग की परेशानी से निपटने के लिए हरियाणा सरकार ने तो कई कदम उठाए हैं, लेकिन दिल्ली सरकार के सुस्त रवैए से यह दिक्कत ज्यादा बढ़ी है।" 3) अपकी सोच से हल का कोई संकेत नहीं मिलता -उन्होंने लिखा, "एयर क्वालिटी को कोई अकेला शख्स, ऑर्गनाइजेशन या सरकार ठीक नहीं कर सकती। इसके लिए एकजुट होकर कोशिश करनी होगी। इसके लिए मजबूत सिस्टम की जरूरत है और इसका आधार माइंडसेट है। यह बदकिस्मती है कि आपके लेटर में ऐसे माइंडसेट का कोई संकेत नहीं मिलता है।" 5) राजनीतिक फायदा उठाने की कोशिश - "खेत में पराली जलाने की हरियाणा-पंजाब के किसानों की मजबूरी का जिक्र करना, राजनीतिक फायदा लेने की तरफ इशारा करता है। दिल्ली में करीब 40 हजार परिवार 40 हजार एकड़ जमीन पर खेती करते हैं। इन परिवारों को खेत में पराली जलाने से रोकने के लिए दिल्ली सरकार ने क्या कदम उठाए। पहले यह बताया जाना चाहिए। यूनियन एग्रिकल्चर मिनिस्ट्री ने जानकारी दी है कि पराली के सही निपटारे के लिए पंजाब सरकार को 97.58 करोड़ रुपए दिए गए थे, लेकिन इसमें से एक रुपया भी खर्च नहीं किया गया। जबकि हरियाणा ने 45 करोड़ रुपए में से 39 करोड़ रुपए खर्च किए। सैटेलाइट से भी पता चला है कि हरियाणा में 2014 से अब तक पराली जलाने में कमी आई है। इसके अलावा सरकार ने हरियाणा को केरोसिन फ्री राज्य बनाने के साथ ही खुले में शौच से मुक्त किया है। एकजुट कोशिशों से इस परेशानी का भी हल निकलेगा।"



यह लेख आपको कैसा लगा
   
नाम:
इ मेल :
टिप्पणी
 
Not readable? Change text.

 
 

सम्बंधित खबरें

 
News Aaj Photo Gallery
 
© Copyright News Aaj 2010. All rights reserved.