Tez Khabar. Khas Khabar

News Aaj Photo Gallery
NSE 10478
BSE 33848
hii
Gold 30225
Silver 39700
Home | Bureaucracy

चीफ सेक्रेटरी की दावेदारी बढ़ी, बढ़त अजय सिंह को

रायपुर : राज्य की प्रशासनिक मशीनरी में हलचल बढ़ गई है। मुख्य सचिव विवेक ढांड की सेवानिवृत्ति में भले ही चार महीने बाकी हों, लेकिन ब्यूरोक्रेसी में इस पद के लिए खींचतान शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री के करीबी दो अफसरों, 1983 बैच के आईएएस अजय सिंह और 1985 बैच के आईएएस एन बजेंद्र कुमार अग्रिम पंक्तियों में बताए जा रहे हैं। उच्च प्रशासनिक सूत्रों का कहना है कि सरकार वरिष्ठता को नजरअंदाज करके मुख्य सचिव की नियुक्ति करने पर विचार नहीं कर रही है। ऐसे में एसीएस अजय सिंह के नाम पर मुहर लग सकती है। जल्द ताजपोशी के संकेत विवेक ढांड फरवरी 2018 में रिटायर हो रहे हैं। इस बीच, चर्चा यह है कि ढांड को रेरा का चेयरमैन बनाया जा सकता है। ऐसे में फरवरी से पहले ही मुख्य सचिव की नियुक्ति की जानी है। इस लिहाज से देखें तो मुख्यमंत्री डाक्टर रमन सिंह ने तीन नए एसीएस बनाकर संकेत दे दिए हैं कि जल्द ही नए मुख्य सचिव की ताजपोशी कर दी जाएगी। राउत तीस को होंगे सेवा से निवृत्त 1987 बैच के सीके खेतान, आरपी मंडल और ब्हीवी सुब्रमण्यम को मंगलवार को एसीएस बनाया गया। मुख्य सचिव की दौड़ में शामिल अजय सिंह के बैच वाले एसीएस एमके राउत 30 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं। इसके बाद सिंह को वरिष्ठता के आधार पर टक्कर देने वाले एसीएस एन बैजेंद्र कुमार प्रतिनियुक्ति पर चले गए हैं। हालांकि चर्चा है कि अजय सिंह फरवरी 2020 में रिटायर होंगे, वहीं बैजेंद्र कुमार जुलाई 2020 तक रिटायर होंगे। ऐसे में सबकुछ ठीकठाक रहा तो बैजेंद्र कुमार भी पांच महीने मुख्य सचिव की कुर्सी पर रह सकते हैं। सचिवालय के आला अधिकारियों ने बताया कि मुख्य सचिव के नेतृत्व में अगला विधानसभा और लोकसभा चुनाव होगा। ऐसे में सरकार भी किसी ऐसे अफसर को बाहर से नहीं लाना चाहती, जिससे सामंजस्य बिठाने में दिक्कत आए। प्रतिनियुक्ति पर एक दर्जन से ज्यादा छत्तीसगढ़ कैडर के लगभग एक दर्जन अफसर केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं। इसमें एन बैजेंद्र कुमार, मनोज पिंगुआ, निधि छिब्बर, गौरव द्विवेदी, मनविंदर कौर द्विवेदी और अमित कटारिया प्रमुख हैं। इसमें गौरव द्विवेदी और मनविंदर कौर द्विवेदी की वापसी होने वाली है, लेकिन अभी तक रिलीव नहीं हुए हैं। 35 आईएएस की कमी झेल रहा प्रदेश प्रदेश में आईएएस कैडर के 193 पद स्वीकृत हैं। हाल ही में डीओपीटी ने राज्य के लिए 15 आईएएस का कोटा बढ़ाया है। इससे पहले प्रदेश में 178 आईएएस का पद था। इन पदों के लिए प्रदेश में सिर्फ 158 आईएएस ही कार्यरत है। ऐसे में प्रदेश को 35 आईएएस की कमी झेलनी पड़ रही है। यूपी कैडर जाना चाहती हैं श्रुति गरियाबंद कलेक्टर और 2006 बैच की आईएएस श्रुति सिंह उत्तर प्रदेश कैडर में जाना चाहती है। इसके लिए उन्होंने आवेदन भी लगाया है। श्रुति यूपी की हैं और वे होम कैडर में जाना चाहती है। केंद्र से स्वीकृति मिलते ही उन्हें यूपी के लिए रिलीव कर दिया जाएगा। इससे पहले आईएएस रविकांत गुप्ता को रिलीव किया गया है।



यह लेख आपको कैसा लगा
   
नाम:
इ मेल :
टिप्पणी
 
Not readable? Change text.

 
 

सम्बंधित खबरें

 
News Aaj Photo Gallery
 
© Copyright News Aaj 2010. All rights reserved.