Tez Khabar. Khas Khabar

News Aaj Photo Gallery
NSE 10321.75
BSE 33314.56
hii
Gold 29471
Silver 39520
Home | Bureaucracy

IAS अधिकारी से कर रहा था एक करोड़ की वसूली, पत्नी समेत गिरफ्तार

सुनने में थोड़ा अटपटा जरूर लगेगा कि रंगदारी और वो भी आईएएस अधिकारी से. लेकिन यह सच है. ठाणे पुलिस ने एक प्राइवेट डिटेक्टिव और उसकी पत्नी को निलंबित एक आईएएस अधिकारी से एक करोड़ी की रंगदारी लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया है. आईएएस अधिकारी भ्रष्टाचार के मामले में छुट्टी पर चल रहे हैं. बता दें कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने गत अगस्त में ऑडियो क्लिप विवाद के बाद मोपलवार को महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम के उपाध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक पद से हटा दिया था. पुलिस के अनुसार गिरफ्तार किए गए इस दंपति ने अधिकारी राधेश्याम मोपलवार को धमकी दी थी कि वे उनकी किसी फोन कॉल रिकॉर्डिंग को सार्वजनिक कर उन्हें बदनाम कर देंगे. उन्होंने टेप रिलीज न करने और अधिकारी के खिलाफ भ्रष्टाचार के अपने आरोप वापस लेने के लिए सात करोड़ रुपये की मांग की थी. ऑडियो क्लिप में मोपलवार को कथिततौर पर एक प्लॉट के लिए सौदा करते सुना गया था. ठाणे पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने कहा बताया कि निजी जासूस सतीश मंगले और उसकी पत्नी श्रद्धा को पुलिस ने डोंबिवली स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया. पुलिस ने उनके घर से दो लैपटॉप, पांच मोबाइल फोन, चार पैन ड्राइव, 15 सीडी और कुछ दस्तावेज बरामद किए हैं. उन्होंने बताया कि राधेश्याम मोपलवार का उनकी पत्नी से तलाक का मामला अदालत में चल रहा है. उन्होंने पत्नी पर नजर रखने के लिए प्राइवेट डिटेक्टिव सतीश मांगले की मदद ली थी. इससे सतीश और उसकी पत्नी श्रद्धा आईएएस के करीबी हो गए थे. नजदीकी का फायदा उठाते हुए मांगले की पत्नी ने मोपलवार के भ्रष्टाचार की ऑडियो रिकॉर्डिंग कर ली थी. यह ऑडियो एक अगस्त को कुछ समाचार चैनलों पर प्रसारित हुआ था. उसके बाद मोपलवार को एमएसआरडीसी से हटाकर छुट्टी पर भेज दिया गया था. बिहार में डीआईजी से मांगी 20 लाख रुपये की रंगदारी पुलिस ने बताया कि पहले तो जासूस दंपति ने अधिकारी से 10 करोड़ रुपये की मांग की थी और बाद में वे सात करोड़ रुपये लेने पर राजी हो गए. जासूस मंगले ने मोपलवार को धमकी दी थी कि अगर पैसा नहीं दिया गया तो उन्हें और उनकी बेटी को गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे. इससे पहले भी मंगले दो बार मोपलवार को धमकी दे चुका था कि वह अरुण गावली गिरोह और अन्य संगठित अपराध गिरोहों में लोगों को जानता है. पुलिस ने बताया कि आईएएस अधिकारी ने 31 अक्तूबर को मुंबई के एक पांच सितारा होटल में हुई इस बातचीत की वीडियो रिकॉर्डिंग कर ली थी. इसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस ने बताया कि वीडियो और अन्य सबूतों का अध्ययन करने के बाद मंगले को रंगे हाथों गिरफ्तार करने के लिए जाल बिछाया गया. सादी वर्दी में एक पुलिसकर्मी को रंगदारी की किश्त के रूप में एक करोड़ रुपये लेकर मंगले के डोंबिवली स्थित घर भेजा गया. मंगले और उसकी पत्नी को यह नकदी लेते समय गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस इनके दो अन्य साथियों की तलाश कर रही है.



यह लेख आपको कैसा लगा
   
नाम:
इ मेल :
टिप्पणी
 
Not readable? Change text.

 
 

सम्बंधित खबरें

 
News Aaj Photo Gallery
 
© Copyright News Aaj 2010. All rights reserved.