Tez Khabar. Khas Khabar

News Aaj Photo Gallery
NSE 10478
BSE 33848
hii
Gold 30225
Silver 39700
Home | स्वास्थ्य

रोज अनानास खाएं, इतनी तरह से आपके स्वास्थ्य के लिए है बेहतर

अनानास सबसे स्वादिष्ट फलों में से एक है। इसका खट्टा मीटा टेस्ट तो अच्छा लगता ही है, लेकिन इसके कई स्वास्थ्य लाभ भी हैं। अध्ययनों के मुताबिक, अनानास कई तरह की श्वसन समस्याओं में कारगर होने के साथ ही, सूजन को कम करने, वजन घटाने, कैंसर को रोकथाम, हृदय स्वास्थ्य में सुधार, परजीवी और संक्रमण से लड़ने में कारगर साबित होता है। यह व्यक्ति की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। कभी हवाई इस फल का सबसे बड़ा उत्पादक था, लेकिन आज यह फल दुनियाभर में मिलता है।

यह फल कैरेबियाई, ब्राजील और पैराग्वे में पाया जाता था, लेकिन कोलंबस के 15वीं सदी में अपनी यात्रा से लौटने के बाद यूरोप में पहुंच गया और फिर दुनियाभर में फैल गया। जानते हैं किन रोगों में कारगर है अनानास... जोड़ों के दर्र में अनानास में एंटी इंफ्लेमेट्री एजेंट काफी मात्रा में पाया जाता है। यह गठिया के इलाज में काफी कारगर है, जो जोड़ों के दर्द को कम करता है। इसमें दुर्लभ एंजाइम ब्रोमेलैन पाया जाता है, जिसमें काफी मात्रा में एंटी इंफ्लेमेट्री प्रॉपर्टी होती है। अनानास का रस गठिया और अन्य सूजन की स्थितियों के लक्षणों को काफी कम कर सकता है। इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है इसमें विटामिन सी काफी उच्च मात्रा में होता है, जो शरीर के इम्यून सिस्टम यानी बीमारियों से लड़ने के लिए शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है।

यह शरीर में श्वेत रक्त कणिकाओं को बढ़ाता है और शरीर को विभिन्न संक्रमणों से लड़ने के योग्य बनाता है। यह कई फ्री रेडिकल्स से लड़ने में कारगर होता है, जो शरीर में कैंसर का मुख्य कारण बनते हैं। स्वस्थ होने की प्रक्रिया तेज करता है विटामिन सी शरीर में कोलेजन के उत्पादन को बढ़ावा देता है। इससे प्रभावी रूप से आपके ऊतकों, त्वचा, हड्डियों, रक्त वाहिकाओं और मांसपेशियों के स्वास्थ्य में सुधार होता है।

अनानास में पाए जाने वाले विटामिन सी की प्रचुर मात्रा चोटों और घावों को जल्दी भरने में मदद करती है। कैंसर को रोकता है एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन सी के अलावा अनानास में विटामिन ए, ब्रोमेलैन, बीटा कैरोटीन और फ्लेवोनोइड होते हैं, जो विभिन्न प्रकार के कैंसर का इलाज कर सकते हैं। इसमें मैंगनीज भी मौजूद होता है, जो विभिन्न प्रकार के कैंसर से लड़ सकता है।

खासतौर पर यह मुंह, गले और स्तन कैंसर में अधिक प्रभावी साबित होता है। पाचन में सुधार करता है अनानास में फाइबर भी अच्छी मात्रा में होता है। यह आपके पाचन को सुधारता है और कब्ज या दस्त को रोकता है। फाइबर आपके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखता है। अनानास में घुलनशील और अघुलनशील फाइबर आपके पेट को साफ करते हैं फाइबर आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी कंट्रोल करता है और इसे धमनियों में जमा होने से रोक देगा। खांसी और सर्दी में लाभकारी विटामिन सी अपने आप में संक्रमण और सर्दी को रोक सकता है, लेकिन ब्रोमेलैन के साथ होने के कारण यह बेहतर काम करता है। यह आपके वायुमार्गों और साइनस कैविटी में बलगम को बाहर करता है, जिससे खांसी और सर्दी में तेजी से कारगर होता है।

हड्डियों में सुधार यद्यपि अन्य फलों या सब्जियों की तुलना में इसमें कैल्शियम उतनी अधिक मात्रा में नहीं होता है।

मगर, अनानास में मैंगनीज की मात्रा काफी होती है, जो हमारी हड्डियों के लिए महत्वपूर्ण है। अनानास में मैंगनीज की प्रचुर मात्रा हड्डियों को मजबूत रखने के लिए पर्याप्त है। आंखें रहती हैं ठीक इसमें बीटा-कैरोटीन की मात्रा भी काफी होती है, लिहाजा यह मैकुलर डीजेनेरेशन सहित आंखों की विभिन्न प्रकार की समस्याओं को रोकता है। इसके सेवन से आंखों की रोशनी बढ़ती है। इस बात का रखें ध्यान हालांकि, अनानास काफी फायदेमंद है, लेकिन सीमित मात्रा में ही इसका सेवन करना चाहिए। ब्रोमेलैन एक मांस टेंडरजर है, जो आपके होंठ, मसूड़ों और जीभ को अधिक संवेदनशील बना सकता है। अधिक मात्रा में अनानास खाने से दस्त, उल्टी और सिरदर्द की परेशानी हो सकती है। गर्भवती महिलाओं को अनानास खाने से बचाना चाहिए क्योंकि इसमें मौजूद ब्रोमेलैन से गर्भपात हो सकता है।



यह लेख आपको कैसा लगा
   
नाम:
इ मेल :
टिप्पणी
 
Not readable? Change text.

 
 

सम्बंधित खबरें

 
News Aaj Photo Gallery
 
© Copyright News Aaj 2010. All rights reserved.