Tez Khabar. Khas Khabar

News Aaj Photo Gallery
NSE 10333
BSE 33462.97
hii
Gold 28549
Silver 36644
Home | Salam Fauji

इंडियन नेवी डे आजः जाने कैसा है नौसेना का गौरवशाली इतिहास

नई दिल्ली :भारत की नौसेना आज नौसेना दिवस मना रही है। 4 दिसंबर को 1971 को भारतीय नौसेना ने पाकिस्तान के खिलाफ ऑपरेशन ट्राइडेंट शुरू किया था और उसके बाद ही आज का दिन नौसेना दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। देश की सुरक्षा में हर वक्त रगी रहने वाली नौसेना ने वक्त के साथ अपनी क्षमताओं और शक्ति में कई बदलाव किए हैं जिसके बाद आज यह दुनिया की सबसे बड़ी नौसेनाओं में शामिल है। भारतीय नौसेना के पास ना सिर्फ आधुनिक हथियार और युद्धपोत हैं बल्कि सैनिकों का वो जज्बा भी है जिसे देखकर कोई भी दुश्मन भारत की तरफ आंख उठाने के पहले सोचता है।   नौसेना के पास बड़ी संख्या में युद्धपोत और अन्य जहाज हैं, जिनमें से अधिकतर स्वदेशी हैं। जल्द ही देश में बनी पहली पनडुब्बी आइएनएस कलवरी भी नौसेना में शामिल होने वाली है। शक्ति के साथ सामर्थ्य भी -नौसेना का नीति वाक्य है शं नो वरुण:। इसका मतलब है कि जल के देवता वरुण हमारे लिए मंगलकारी रहें। -आजादी के बाद से नौसेना ने अपनी शक्तियों में लगातार इजाफा किया है। हमारे युद्धपोत और मिसाइलें समुद्र के नीचे, समुद्र के ऊपर और समुद्री सतह पर लक्ष्य भेद कर सकती हैं। -न सिर्फ तटों की रक्षा बल्कि नई तकनीक तैयार करने और आपदा के समय राहत कार्यों में भी नौसेना हमेशा आगे रहती है। -तीनों सेनाओं में मेक इन इंडिया का सिद्धांत सबसे पहले नौसेना ने ही शुरू किया। थल सेना व वायु सेना के मुकाबले नौसेना में अधिक स्वदेशी लड़ाकू उपकरण हैं। -भारतीय नौसेना आस्ट्रेलिया, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका, फ्रांस, इंडोनेशिया, म्यांमार, रूस, सिंगापुर, श्रीलंका, थाईलैंड, ब्रिटेन, अमेरिका व जापान के साथ युद्धाभ्यास करती है। -जापान और अमेरिका के साथ इस साल जुलाई में दक्षिण चीन सागर में किए गए मालाबार युद्धाभ्यास ने चीन की नींद उड़ा दी। यह भारतीय नौसेना की शक्ति का प्रतीक है। इतिहास   -1612 में ब्रिटिश सेना ने अपने व्यापार की रक्षा करने के लिए गुजरात में सूरत के पास एक छोटी नौसेना की स्थापना की। इसे ऑनरेबल ईस्ट इंडिया मरीन नाम दिया गया। -1686 में जब अंग्रेजों ने बंबई (अब मुंबई) से व्यापार करना शुरू किया तो सेना को बंबई मरीन नाम दिया गया। -1892 में इसे रॉयल इंडियन मरीन नाम से पुकारा जाने लगा। -26 जनवरी, 1950 को भारत के लोकतांत्रिक गणराज्य बनने के बाद इसका नाम बदलकर भारतीय नौसेना किया गया। -22 अप्रैल, 1958 को वाइस एडमिरल आर डी कटारी को नौसेना का पहला भारतीय प्रमुख नियुक्त किया गया।



यह लेख आपको कैसा लगा
   
नाम:
इ मेल :
टिप्पणी
 
Not readable? Change text.

 
 

सम्बंधित खबरें

 
News Aaj Photo Gallery
 
© Copyright News Aaj 2010. All rights reserved.