Tez Khabar. Khas Khabar

News Aaj Photo Gallery
NSE 10240
BSE 33227.99
hii
Gold 28443
Silver 36457
Home | Salam Fauji

शहीद मेजर कमलेश पांडे का शव पहुंचा हलद्वानी

हलद्वानी 04 अगस्त: आतंकियों की घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम करते हुए शोपियां में शहीद हुए मेजर कमलेश पांडे का शव उनके गृह नगर हल्द्वानी पहुंच चुका है। शहीद का शव आते ही पूरा गांव उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए उमड़ पड़ा। शहीद के शव को देखकर परिजन बिलख पड़े और पिता ने मांग की है कि उनके बेटे ने देश के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है, अब भारत को पाकिस्तान के साथ युद्ध के मैदान में उतरना चाहिए तभी वो समझेगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के साथ तो आर-पार की जंग होनी चाहिए। इससे पहले सुबह से ही मेजर कमलेश के घर अंतिम दर्शन को लोगों का तांता लग गया। परिवहन मंत्री मंत्री यशपाल आर्य, विधायक बंशीधर भगत, जिलाधिकारी दीपेंद्र चोधरी, एसएसपी जनमेजय खंडूरी ने भी शहीद को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस दौरान घर के बाहर, जब तक सूरज चांद रहेगा, पांडेय तेरा नाम रहेगा, पाकिस्तान मुर्दाबाद समेत कई देश भक्ति नारों की गूंज रही। वहीं शहीद के परिजनों का रो रोकर बुरा हाल था। मेजर कमलेश हिम्मतपुर मल्ला के कांति पुरम में रहते थे। गत दिवस कमलेश के शहीद होने का समाचार घर पहुंचा तो कोहराम मच गया। मेजर कमलेश के पिता मोहन चंद्र पांडेय भी सेना से सेवानिवत्त हुए है, जबकि छोटा भाई आर्मी पोस्टल सर्विस में है। मूल रूप से अल्मोड़ा जिले के दिगोली बाड़ेछीना में रहने वाले मेजर कमलेश के प्राथमिक शिक्षा गांव के प्राथमिक स्कूल में हुई थी। कक्षा छह से 12 तक वह रानीखेत के केंद्रीय विद्यालय में पढ़े। 2006 में उनका चयन एअर फोर्स में एअर मेन के पद पर हुआ था। नौकरी के साथ ही उन्होंने स्नातक किया और 2010 में सीडीएस परीक्षा पास की। तीन माह पहले ही वह मेजर के पद पर प्रोन्नत हुए थे।



यह लेख आपको कैसा लगा
   
नाम:
इ मेल :
टिप्पणी
 
Not readable? Change text.

 
 

सम्बंधित खबरें

 
News Aaj Photo Gallery
 
© Copyright News Aaj 2010. All rights reserved.